धार~ झूठी निकली लूट की कहानी, पति की हत्या के लिए पत्नी ने ही रचा था षड़यंत्र ~~

धामनोद पुलिस ने 2 जुलाई को इंदौर निवासी इलेक्ट्रानिक शोरूम संचालक पर क्षेत्र में फायर करने और कार लूटने के मामले का किया खुलासा ~~

प्रॉपर्टी ब्रोकर बना बदमाश और उसकी सहयोगी महिला सहित फरियादी की पत्नी गिरफ्तार~~

फरियादी की पत्नी सपना साहू के खिलाफ इंदौर में दर्जनों प्रकरण दर्ज, जेल में मुलाकात के बाद दो सहयोगी को लालच देकर वारदात के लिए था राजी ~~

धार ( डॉ. अशोक शास्त्री )।

2 जुलाई को धामनोद थाना क्षेत्र अंतर्गत बायपास पर इंदौर निवासी इलेक्ट्रानिक शोरूम संचालक विनोद साहू पर गोली चलाने और कार लूटने के मामले का धामनोद पुलिस ने 96 घंटे में खुलासा कर लिया है। इस मामले में लूट की कहानी झूठी निकली है। फरियादी विनोद साहू पर गोली लूट नहीं हत्या करने के उद्देश्य से चलाई गई थी। किंतु गोली उन्हें कंधे पर लगी थी। जिसके बाद आरोपी कार लेकर फरार हो गए थे। इस मामले में घटना के दौरान फरियादी श्री साहू के साथ मौजूद उनकी पत्नी सपना साहू ही घटना की मास्टर मार्इंड निकली है। गुरुवार को पत्र परिषद् में एएसपी देवेन्द्र पाटीदार ने पूरे मामले की जानकारी देते हुए बताया कि फरियादी विनोद साहू की पत्नी ने ही अपने साथी राजेश और उसकी महिला सहयोगी रेणू के साथ मिलकर हत्या करने के लिए प्लान बनाया था। हत्या करने में असफल होने पर दो आरोपी मौके से कार लेकर भाग गए। वहीं फरियादी की पत्नी ने इसे लूट के उद्देश्य से गोली चलने का मामला बताने की कोशिश की। पत्र परिषद् में एसडीओपी राहुल खरे और धामनोद थाना प्रभारी राजकुमार यादव मौजूद थे।
अपराधिक प्रवृत्ति की है सपना
एएसपी श्री पाटीदार ने बताया कि इस मामले में   आरोपित सपना साहू जो फरियादी की दूसरी पत्नी है, उसे और राजेश शर्मा नाम से ब्रोकर बने बदमाश राजेश उर्फ नवल कीर और उसकी सहयोगी रेणू गोस्वामी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सपना आदतन अपराधिक प्रवृत्ति की है। इस पर कई प्रकरण दर्ज है। विनोद साहू के संपर्क में आने के बाद सपना ने अपना पैसा विनोद को दिया था। जिससे विनोद ने काफी तरक्की की थी। कई समय से फरियादी विनोद अपनी पहली पत्नी को महत्व देने लग गया था। इसके कारण सपना नाराज थी। उसने विनोद की हत्या का षड्यंत्र रचा।
प्रॉपर्टी खरीदने के बहाने लाए थे
आरोपित सपना की जेल में बंद रहने के दौरान राजेश से पहचान हुई थी। राजेश को उसने हत्या के लिए रूपए का लालच में राजी कर लिया। प्रॉपर्टी खरीदने के बहाने विनोद को लेकर सपना खरगोन की और निकली थी। इस दौरान राजेश और उसकी सहयोगी प्रॉपर्टी ब्रोकर बने थे। घटना दिनांक को बाथरूम के बहाने गाड़ी रुकवाई गई। इस दौरान दोनों महिलाएं उतर गई और आरोपी राजेश ने विनोद पर गोली चला दी। गोली उसको कंधे पर लगी। इसके बाद विनोद मौके से भागा। षड्यंत्र फेल होता देखकर प्लान के तहत राजेश और उसकी सहयोगी कार लेकर भाग गए और षड्यंत्रकारी सपना अपने पति के साथ रूकी रही। इसके बाद घटना को लूट का उद्देश्य दिखाने की कोशिश की गई।  
गिरफ्तार साथियों ने उगले राज
एएसपी श्री पाटीदार ने बताया कि इस मामले में प्रारंभिक जानकारी के बाद पुलिस ने 379 में प्रकरण दर्ज किया था। इसके बाद जांच की गई। जिसमें घटना में शामिल प्रॉपर्टी ब्रोकर बने बदमाश राजेश और उसकी सहयोगी रेणू के दूधिया क्षेत्र में मकान किराये से ढूंढने की जानकारी मिली।े जिसके बाद उनके नंबर जुगाड़े गए और पुलिस ने मकान मालिक बनकर उनकी लोकेशन ट्रेस की और हिरासत में लिया। हिरासत में आए बदमाशों से पुलिस ने एक देशी कट्टा, कारतूस और मोबाईल सहित करीब 8 लाख का मश्रुका बरामद किया है। दोनों आरोपियों ने इस मामले में सपना साहू को मुख्य षड्यंत्रकारी बताते हुए पूरे मामले को सामने रख दिया। इसके बाद सपना की भी गिरफ्तारी की गई। 
सपना पर 6, राजेश पर 9 प्रकरण दर्ज
पुलिस ने सपना का रिकार्ड खंगाला तो इन्दौर जिले में थाना एरोड्रम, जूनी इंदौर जुनी इन्दौर व साउथ तुकोगंज में धोखाधडी, कुटरचना, अपहरण एवं जालसाजी के कुल 6 अपराध पन्जीबद्ध होना पाए गए। उसके साथी राजेश उर्फ नवलसिंह के विरुद्ध भी लूट, मारपीट अवैध हथियार रखना, अपहरण व डकैती जैसे कुल 9 गंभीर प्रवृति के अपराध जिला इन्दौर के हीरानगर, किशनगंज, एमआईजी थानो ंमें पन्जीबद्ध होना पाए गए है। आरोपियों को पकड़ने में थाना प्रभारी धामनोद श्री राजकुमार यादव के नेतृत्व में उपनिरीक्षक सुशील यदुवंशी,  नारायण रावल, हीना कनेश, प्रधान आरक्षक मनीष चौधरी, सायबर सेल के आरक्षक प्रशांत चौहान का विशेष सहयोग रहा।
चित्र है


Share To:

Post A Comment: