धार~मामला 49 लाख के गबन का......
धार-सिंघाना के 3 सटोरिये हिरासत में, पूछताछ के लिए रिमांड मांगेगी पुलिस ~~

गबन के आरोपी ने पूरा मामला सटोरियों के मत्थे डाला, रकम रिकव्हरी पर पुलिस का विशेष फोकस ~~

धार ( डॉ. अशोक शास्त्री )।

शोरूम के केशियर द्वारा 49 लाख की राशि के गबन के मामले में पुलिस ने धार और सिंघाना से तीन सटोरियों को हिरासत में लिया है। इन्हें मंगलवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। पुलिस कोर्ट से इनका रिमांड मांगेगी। रिमांड अवधि में पूछताछ के साथ रकम रिकव्हरी को लेकर प्रयास किए जाएंगे। उल्लेखनीय है कि गबन करने वाले कर्मचारी अश्विन गोस्वामी ने पूरा मामला सटोरियों के मत्थे डाल दिया है। गबन की राशि उसने सट्टे पर खर्च करना बताया है। इसके बाद से पुलिस सटोरियों को पकड़ने के लिए जुटी थी। उन्हें सोमवार को हिरासत में ले लिया गया है।
धार से 1 की और तलाश
अभी तक मिली जानकारी के अनुसार पुलिस का पूरा फोकस इस मामले में महिन्द्रा शोरूम से गबन की गई राशि को रिकव्हर करने का है। पुलिस ने सिंघाना के राजदीप पिता जगदीश व सावन पिता हेमंत को हिरासत में लिया है। वहीं धानमंडी धार से पारस अग्रवाल को भी कस्टडी में लिया गया है। धार के सटोरिये से धार के ही एक और साथी का नाम प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है। कोतवाली पुलिस उसकी तलाश में भी जुटी हुई है। 
रिमांड में अश्विन से मिली जानकारी
49 लाख के गबन के आरोपी अश्विन गोस्वामी को पुलिस  ने 29 जून को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया था। यहां से 5 दिन का रिमांड मिला था। इन पांच दिनों में गबन की राशि खर्च करने को लेकर पूरी कहानी बताई थी। जानकारी के अनुसार अश्विन ने राजदीप से पुरानी मित्रता होना बताया है। धार में केशियर बनने के बाद मित्रता जारी रही और उसी के कहने पर कंपनी का रोज का आने वाली नकद रकम वह सट्टे में लगाने लगा। कभी हारा तो कभी जीता भी। इस दौरान कंपनी को आॅडिट में गबन की जानकारी लग गई। जिसके बाद प्रकरण दर्ज हो गया। प्रकरण दर्ज होने के पूर्व भी अश्विन ने बड़ी रकम आईपीएल सट्टे में लगाई थी। टीआई समीर पाटीदार के अनुसार शोरुम पर हुए गबन के मामले की जांच अभी जारी हैं। अश्विन के बताए अनुसार धार व सिंघाना से दो सटोरियों को हिरासत में लेकर आरोपी बना दिया गया है। रुपए रिकव्हरी के लिए टीम गठित हैं। जल्द ही पूरे मामले का पर्दाफाश किया जाएगा।


Share To:

Post A Comment: