झाबुआ~8 दिवसीय पयूर्षण महापर्व के दौरान संपूर्ण भारत में कत्लखाने एवं मांस बिक्री पर रहे प्रतिबंध, सकल जैन समाज झाबुआ ने भी जिला प्रशासन को पत्र प्रेषित कर रखी मांग~~




झाबुआ। वर्षाकाल में संपूर्ण भारत में चातुर्मास चल रहा है। इस दौरान समाज के लोग धर्म-आराधना, जप-तप आदि में पूर्णतः लीन है। चातुर्मास के दौरान जैन समाज के वर्ष के सबसे बड़े पर्व के रूप में पर्यूषण महापर्व भी मनाया जाता है। पर्यूषण महापर्व अहिंसा, करूणा और मैत्री का सभी को संदेश देता है, इसलिए समाजजनों की मांग रहती है कि आठ दिवसीय पर्व के दौरान देशभर में कत्लखाने बंद रहे। 






जानकारी देते हुए श्वेतांबर जैन समाज के युवा रिंकू रूनवाल ने बताया कि इसी क्रम में इस वर्ष भी संपूर्ण भारत में 8 दिवसीय पर्यूषण महापर्व के दौरान कत्लखाने एवं मांस बिक्री पर प्रतिबंध की मांग समाजजनों द्वारा पूर-जोर तरीके से की जा रही है। जिसको लेकर सकल जैन समाज जिसमें श्वेतांबर, तेरापंथ एवं स्थानकवासी समाज की ओर से शासन-जिला प्रशासन से पर्युषण महापर्व के दौरान शहर में सभी कत्लखाने एवं मांस विक्रय पर प्रतिबंध लगाने की मांग रखी है। संपूर्ण देश में सकल जैन समाज जनों द्वारा अलग-अलग माध्यमों से राज्य सरकार, भारत सरकार तथा प्रशासन से यह मांग बुलंद की गई है।




Share To:

Post A Comment: