बड़वानी~कलम के सिपाही, आमजन के रहनुमाई है श्री सिलावट जी-कलेक्टर~~

श्री सिलावट जी की सेवा निवृत्ति पर दी गई भावभीनी विदाई~~

बड़वानी /जिला प्रशासन के जनसंपर्क विभाग के जनसंपर्क अधिकारी श्री स्वदेश सिलावट के 3 दशक के सेवाकाल का अंतिम दिवस 30 जून को सेवानिवृत्ति के रूप में निरूपित हुआ। व्यक्ति नहीं संपूर्ण व्यक्तित्व के अधिष्ठाता श्री सिलावट बहुमुखी प्रतिभा के धनी संचार की नई तकनीक से परिपूर्ण एक ऐसे कलम के सिपाही हैं, जिन्होंने अपनी लेखनी और करनी को समानांतर रूप से संचालित किया। आपके तीन दशक के सेवाकाल के महत्वपूर्ण 24 वर्ष बड़वानी जिले में बीते यह बड़वानी जिले वासियों के लिए किसी सौगात से कम नहीं है।
     उक्त बातें श्री सिलावट जी की सेवानिवृत्ति के विदाई समारोह में कलेक्टर श्री शिवराज सिंह वर्मा ने कही। उन्होंने कहा श्री सिलावट के व्यक्तित्व के बारे में जितना भी कहे कम है। उन्होंने न केवल अपने मूल दायित्व का निर्वहन करते हुए प्रदेश में जनसंपर्क बड़वानी को शीर्ष स्थान पर बनाए रखा बल्कि जिला प्रशासन की विभिन्न विभागीय गतिविधियों एवं नवाचारों को भी राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने में सफलता प्राप्त की।
     लोकतंत्र न्यूज, पत्रिका, चैथा संसार एवं स्वराज के पत्रकार बंधुओं के समन्वय से शुभम पैलेस में आयोजित भव्य कार्यक्रम में श्री विरेंद्र वाशिंदे श्री गुरमीत सिंह गांधी व श्रीमती सुनीता मोरे व सुनीता शुक्ला के साथ नन्ही बालिका हिमानी यादव ने सुमधुर गीतों से विदाई समारोह को भाव विभोर कर दिया ।
   विदाई समारोह में पुलिस अधीक्षक श्री दीपक कुमार शुक्ला ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि मैंने बड़वानी आकर जनसंपर्क विभाग के रूप में पूरे जिले के विभिन्न विभागीय इकाइयों से आपकी लेखनी के माध्यम से रूबरू हुआ क्योंकि श्री सिलावट जी अपने विभाग के साथ-साथ सभी विभागों के सचेतक के रूप में ढाई दशक से यहां अपनी सेवा दे रहे थे।
    एसडीएम श्री घनश्याम धनगर ने कहा श्री सिलावटजी की सेवानिवृत्ति प्रशासन और आम जनता के बीच अपूरणीय रिक्ती है। जिसकी भरपाई में बहुत वक्त लगेगा। उन्होंने कहा श्री सिलावट के रूप में हमने कुशल समन्वयक, संगठक ,पर्यावरण सचेतक एवं संरक्षक अधिकारी की बहुआयामी भूमिका के साक्षात्कार किए जिससे हमें बहुत कुछ सीखने और समझने को मिला।
पत्रकार श्री सचिन राठौर, श्री सचिन शर्मा, श्री तरुण जैमन, श्री विजेंद्र परमार के द्वारा कार्यक्रम का सफल संयोजन कर विशाल माला के साथ साफा पहनाकर श्री स्वदेश सिलावट का अभिनंदन किया गया। आपके द्वारा श्री सिलावट के साथ-साथ मंचासीन अतिथियों को शिवकुंज की प्रतिकृति भी भेंट की गई। पूर्व कुलपति एवं आशा ग्राम ट्रस्ट के सचिव डॉ शिवनारायण यादव ने श्री सिलावट के द्वारा पर्यावरण संरक्षण एवं पर्यटन स्थल के रूप में शिवकुंज में  दिए गए महत्वपूर्ण योगदान पर प्रकाश डालकर उन्हें वरिष्ठ शिल्पकार निरूपित किया। वही वंचित, शोषित, पीड़ित वर्ग के लिए आशा चिकित्सालय के संचालन में दिए गए योगदान के प्रति  आभार माना।

भांजी बोली मामा अब घर लौट चलो
      श्री स्वदेश सिलावट के विदाई समारोह में उनके परिवार से दो बहनें और भांजी रोमा सिलावट भी उन्हें लेने के लिए बड़वानी पधारे थे। जब सभी मंचासीन एवं पांडाल में उपस्थित लोगों के द्वारा उन्हें अपना सेवाकाल बड़वानी में ही निरंतर रखने के लिए उद्गार व्यक्त किए तो भांजी रोमा बोली मामा के 3 दशक के सेवाकाल में मामा 30 बार भी घर नहीं आए अब हमें भी मामा का साथ चाहिए । क्योंकि मैंने अपने पिता को खो दिया है और मामा ही मेरे पिता के समान है और मैं बड़वानी से मामा के रूप में अपने पिता को लेने के लिए आई हूं। भांजी रोमा की भावभरी बातें सुनकर कलेक्टर श्री शिवराज सिंह वर्मा ने अपना विचार बदलते हुए रोमा की बात का समर्थन किया और अपने जीवन का शेष सेवाकाल अपने परिवार के साथ भोपाल में ही गुजारने के लिए अपनी सहमति दी।
शिव कुंज की नन्ही स्वयं सेवक कुमारी माही यादव ने भी शिव कुंज में श्री सिलावट जी के साथ श्रमदान के दौरान साथ किए गए कार्यों की कोलाज स्मृति चिन्ह भेंट किया। यह दर्शाता है कि वह बच्चों के बीच भी खासे लोकप्रिय थे विशेषकर बेटियों की शिक्षा में उनके योगदान सदैव स्मरणीय रहेंगे।
अपने विदाई समारोह में श्री स्वदेश सिलावट ने कहा मैं जो कुछ भी हूं आप लोगों के कारण ही हूं आप लोगों के द्वारा मुझे अपने सेवाकाल में पूर्ण सहयोग प्रदान किया गया । जिसके दम पर मैं प्रशासन और जनता दोनों के कार्यों को सही ढंग से साध कर उन्हें मूर्त रूप देता चला गया। उन्होंने पत्रकार बंधुओं को सटीक और सकारात्मक खबरें प्रकाशित करने के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम को पत्रकार श्री अशोक बथमा, डॉ दिलीप माहेश्वरी, श्री जैद अहमद, श्री हेमंत शमार्, श्री रुपेश दवाने, मोहम्मद हाशमी आदि पत्रकारों ने भी श्री सिलावट जी के साथ बिताए अपने दौर के विषय में विचार साझा किए। कार्यक्रम का सफल संचालन श्री अनिल जोशी के द्वारा किया गया।
देर रात तक चले विदाई समारोह में बड़वानी जिले के पत्रकार गण प्रशासकीय अधिकारी अपर कलेक्टर श्रीमती शालिनी श्रीवास्तव, सहायक आयुक्त श्री नीलेश सिंह रघुवंशी, सीएमओ नगरपालिका श्री केएस डोडवे, महिला एवं बाल विकास विभाग के सहायक संचालक श्री अजय कुमार गुप्ता, श्री श्याम गुप्ता सहित व्यवसाई श्री आनंद हल्दीवाल, श्री झब्बू सिंह, श्री पिंटू पटेल, जितेंद्र जैन सहित गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।


Share To:

Post A Comment: