धार~नर्मदा तटिय क्षेत्र में कलेक्टर का भ्रमण, अधिकारियों को अलर्ट रहने के लिए कहा ~~

धार - निसरपुर ( डॉ. अशोक शास्त्री )

नर्मदा तटिय क्षेत्र में कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने दौरा किया है। कलेक्टर ने यहां पहुंचकर डूब क्षेत्र को देखा और अधिकारियों से नर्मदा के जल स्तर को लेकर जानकारी ली। इस दौरान एसडीएम नवजीवनसिंह पंवार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि नर्मदा का जल स्तर बढ़ने लगा है। कोई हादसा ना हो इसको लेकर अलर्ट रहे और सुरक्षा इंतजामात को एक बार और पुख्ता कर लें। कलेक्टर के निसरपुर ब्लॉक में होने के मद्देनजर डूब क्षेत्र के लोगों को उम्मीदें थी कि उनकी समस्याओं को लेकर भी चर्चा होगी। इसमें खेड़ा बस्ती के लोगों को भी कलेक्टर के उनके यहां आने की उम्मीदें थे। दरअसल खेड़ा बस्ती में तीनों और से पानी भरा  जाता है। इसके बावजूद इसे डूब से बाहर रखा गया है। 
टीले पर लोग देखे तो पूछा यहां कैसे
गुरुवार को कलेक्टर निसरपुर ब्लॉक में थे। इस दौरान उन्होंने उरी बाघनी नदी के पुल के समीप से नर्मदा के जल स्तर को देखा। उन्होंने बांध पूर्ण भरने की स्थिति में वॉटर लेवल से किसी प्रकार की जनहानि होने की संभावनाओं को लेकर जानकारी ली। मौजूद अधिकारियों ने बताया कि ऐसी कोई स्थिति नहीं है। इधर भ्रमण के दौरान कुछ दूरी पर टीले नुमा स्थान पर कुछ लोग खड़े दिखाई दिए। कलेक्टर ने अधिकारियों से पूछा कि यह डूब क्षेत्र तो नहीं है। अधिकारियों ने कहा डूब क्षेत्र है लेकिन खड़े लोग यहां रहते नहीं है। वह जल स्तर देखने आए ग्रामीण है। 
जलमग्न राजघाट को देखा
जिला कलेक्टर शाम 7 बजे डूब के गांव चिखलदा पहुंचे। इस दौरान नर्मदा में जलमग्न राजघाट के पुल को देखा। इस दौरान एनवीडीए के अधिकारियों से पूछा कि बड़वानी से वॉटर लेवल लेते है। अपने क्षेत्र और बड़वानी का वॉटर लेवल एक ही रहता है क्या। अधिकारियों ने कहा वॉटर लेवल एक ही है।  


Share To:

Post A Comment: