बाकानेर~ कैलेंडर में लगी फोटो के हूबहू बच्ची पैदा हुई~~

रिजवान अली बाकानेर~~

बाकानेर सपने सच हो जाते हैं हर दुआ काम आती है कुछ ऐसा ही माजरा हुआ खरगोन जिले के ग्राम लोहारी में रईस मंसूरी के घर रईस मंसूरी की मां ने बहू के कमरे में 2015 का एक कैलेंडर लगा दिया था और वह दुआ करती थी कि मेरे यहां कैलेंडर में जो बेटी है वैसी की वैसी मेरी बहू को औलाद हो और कुछ कुदरत का करिश्मा भी ऐसा ही हुआ 2015 के कैलेंडर में जिस बेटी की तस्वीर कैलेंडर कंपनी ने छाप रखी है वैसी की वैसी हो बहू बेटी 2018 में रईस मंसूरी के यहां पैदा हुई जिसका नाम आलिया मंसूरी रखा जो आज 4 साल की हो गई है इसे सब करिश्मा कहते हैं कहते हैं कुदरत के यहां हर फरियाद मंजूर होती है बशर्ते इंसान बंदो के बजाय कुदरत से डायरेक्ट फरियाद करें उसकी फरियाद दुआ मंजूर होती है यह करिश्मा आप हम सब खरगोन जिले वासी ग्राम लोहारी वासी देख रहे हैं जानकारी मशहूर मारूफ पेंटर सादिक मिर्जापुर में हमारे संवाददाता को देते हुए बताया रूबरू देखने पर ऐसा लगता है जैसे कैलेंडर में आलिया मंसूरी की ही फोटो है जबकि वह 2015 का कैलेंडर है और आज भी घर में मौजूद है गांव वाले मोहल्ले वालों को पता चला तो उनके धर्म मिलने वालों का तांता लग गया सभी दुआएं दे रहे हैं और तो और रईस मंसूरी की मां से मोहल्ले और आसपास वाले सभी दुआ करने का कह रहे हैं कि मां आपकी कुदरत दुआ जल्दी सुनता है आप हमारे हक में भी दुआ करें।


Share To:

Post A Comment: