बाकानेर~ मोक्ष कल्याणक महोत्सव पर विधान किया~~

बाकानेर- हजारो वर्ष पूर्व आज ही के दिन श्रावण शुक्ल सप्तमी को जैन धर्म के तैवींसवे तीर्थंकर श्री पार्श्वनाथ भगवान् सम्मेद शिखरजी से निर्वाण को प्राप्त हुए थे। तब से ही जैन समाज के लोग इस दिन को मुकुट सप्तमी के रूप में मनाते आए है। इसी कड़ी में रविवार को बाकानेर जैन समाज ने भी इस दिन को महामहोत्सव के रूप में मनाया। प्रातः कालीन बैला में पार्श्वनाथ भगवान के अभिषेक-शांतिधारा एवं मंडल विधान का आयोजन किया। बोली के माध्यम से मूल बेदी में विराजमान मूलनायक श्री पार्श्वनाथ भगवान के प्रथम अभिषेक-शांतिधारा दिलीप कुमार रमेश चन्द्र रावंका परिवार को मिला ।निर्वाण लाडू किरण दोशी ने बनाया।वही मंडल विधान में मुख्य कलश निर्मला जैन किरण दोशी प्रतिभा जैन पुष्पा बडजात्या किरण गंगवाल सीमा बडजात्या हीरा मणिगोघा वही मंडल में दिप प्रज्वलन इंदु बड़जात्या ने किया आज समाज के नन्हे बच्चे ईशी गंगवाल,अदिति जैन,केशवीगंगवाल,निर्जला उपवास की साधना करी। अष्टमंगल विराजमान टिना रावका प्रियल रावका मंजु सेठी ज्योति गोघा किरण दोशी चंचल बडजात्या सुरभि जैन ईशी गंगवाल ने विराजमान किया मण्डल जी बनाने में राकेश सोनाली जैन पप्पू बडजात्या रानु गोधा चंचल बडजात्या किरण दोशी सिद्धा बडजात्या ने सहयोग किया रात्रि में मंदिर जी में आरती,कल्याण मंदिर स्त्रोत का पाठ, भजन आदि धार्मिक आयोजन किये। समाज के सभी लोगो ने कार्यक्रम में बढ़चढ़ कर भाग लेते हुए पुण्यार्जन किया।उक्त जानकारी अध्यक्ष विनोद दोशी ने दी


Share To:

Post A Comment: