धार~मामला अवैध शराब परिवहन का~~

टेलीकॉम कंपनियों के अधिकारियों से चर्चा, सीसी टीवी फुटेज भी तलाश रहे  है ~~

मजिस्ट्रियल जांच दल की कार्रवाई शुरु, 2 घंटे तक बंद कक्ष में एडीएम-एसडीएम-तहसीलदार की बैठक ~~

सिलावद दुकान के बैच नंबर की नहीं थी शराब, बड़वानी पहुंचने के बाद स्पेशल टीम के सदस्य कुक्षी थाना प्रभारी को मिली जानकारी~~

चार फरार आरोपियों पर 10-10 हजार का इनाम घोषित, मुख्य आरोपी सुखराम का 900 वर्गफीट का अवैध निर्माण आलीराजपुर प्रशासन ने तोड़ा~~


धार ( डाॅ. अशोक शास्त्री )। 

अवैध शराब से भरे ट्रक को पकड़ने की कार्रवाई के दौरान प्रशासनिक टीम पर हुए हमले के बाद एसपी आदित्य प्रतापसिंह ने पूरे मामले की जांच के लिए पुलिस की स्पेशल इंवेस्टीगेशन टीम गठित की है। एएसपी देवेन्द्र पाटीदार की अध्यक्षता में कुक्षी-मनावर पुलिस टीम के अतिरिक्त क्राईम ब्रांच और सायबर टीम के सदस्यों को भी शामिल किया गया है। टीम गठित होने के बाद फरार चार आरोपियों पर गिरफ्तारी पर 10-10 हजार का इनाम भी घोषित किया गया है। वहीं क्राईम ब्रांच की टीम सुदूर अंचलों में बदमाशों को पकड़ने के लिए भटक रही है। इधर कलेक्टर द्वारा गठित मजिस्ट्रियल जांच दल गंभीरता से जांच में जुट गया है। सूत्रों की माने तो टेलीकॉम कंपनियों के अधिकारियों को भी बुलाया गया है। घटना से संबंधित और घटना स्थल के आसपास में सक्रिय नंबरों की जानकारी जुटाई जा रही है। बुधवार को बंद कक्ष में करीब ढ़ाई घंटे तक जांच दल के सदस्य एडीएम शृंगार श्रीवास्तव, एसडीएम सुश्री दीपाश्री गुप्ता व तहसीलदार विनोद राठौर ने चर्चा की है। जांच का मुद्दा होने के कारण प्रशासनिक अधिकारी जांच पूरी होने तक बात करने से बच रहे हैं। 
बड़वानी के सिलावद पहुंची पुलिस टीम 
एसआईटी गठित होने के बाद पुलिस टीम सक्रिय हो गई है। बुधवार को टीम के सदस्य कुक्षी थाना प्रभारी सीबी सिंह ने टीम के साथ बड़वानी जिले के सिलावद की शराब दुकान पर जांच की। टीम अपने साथ बड़वानी के आबकारी अधिकारियों को लेकर पहुंची थी। जहां पर स्टॉक रजिस्टर सहित आवंटित बैच नंबरों के संबंध में जानकारी जुटाई गई। इसके बाद पुलिस ने बड़वानी जिले की संपूर्ण शराब दुकानों पर बैच नंबर संबंधित सप्लाय की जानकारी मांगी है। इसके बाद स्पष्ट होगा कि कौन सी दुकान से शराब आई थी। उल्लेखनीय है कि इस मामले में रिंकु भाटिया की सिलावद स्थित शराब दुकान से शराब आने की बात की जा रही थी। 
लीड अधिकारी के गनमेन ने दर्ज कराई रिपोर्ट 
मंगलवार अलसुबह अवैध शराब के ट्रक को रोकने के दौरान कुक्षी-आलीराजपुर के मध्य ग्राम हल्दी क्षेत्र में हुए प्रशासनिक टीम पर हमले के मामले में 16 घंटे बाद रिपोर्ट दर्ज की गई है। आॅपरेशन शराब माफिया को लीड कर रहे एसडीएम नवजीवन पंवार और अपहृत किए गए नायब तहसीलदार डही कुणाल अवास्या (जिनका नाम कल त्रुटि से राजेश भिड़े लिखा गया था) के स्थान पर गनमेन कुक्षी थाने के ही एएसआई चंचलसिंह चौहान की रिपोर्ट पर प्रकरण दर्ज किया गया है। पुलिस ने 5 आरोपियों के खिलाफ धारा 294, 332, 353, 365, 307, 395, 397, 427, 149, 506, 34 (2) आबकारी एक्ट में प्रकरण दर्ज किया है। 
10-10 हजार के इनाम घोषित 
प्रशासनिक टीम पर हमले के मामले में घटना के बाद से फरार 4 आरोपितों महेश निवासी मोरडुंडिया राणापुर, मोटला उर्फ दिग्विजय बडी थाना अंबुआ, किडिया मोरडुंडिया राणापुर, सुखराम कनेश की गिरफ्तारी पर एसपी आदित्य प्रतापसिंह ने 10-10 हजार का इनाम घोषित किया है। इधर सायबर टीम एवं क्राईम ब्रांच की टीमक भी अपने स्तर पर आरोपियों की गिरफ्तारी में जुट गई है। 
बॉक्स-1 
अवैध निर्माण पर चली जेसीबी 
मामले के मुख्य आरोपी आलीराजपुर निवासी सुखराम पिता वेस्ता कनेश के ग्राम खरखड़ी स्थित मकान पर आलीराजपुर प्रशासन ने कार्रवाई की है। घटना के दूसरे दिन बुधवार को आरोपी का ग्राम खरखड़ी स्थित मकान पर जेसीबी चलाई गई है। करीब 900 वर्गफीट का अवैध निर्माण तोड़ा गया है। गांव में करीब 3 मंजिला आलीशान मकान बनाया गया था। 
चित्र है 14धार12- 
बॉक्स-2 
जानकारी जुटाने के लिए आम लोगों से अपील 
धार प्रशासन की मजिस्ट्रियल जांच प्रमुख एडीएम ने बुधवार को इस मामले में अधिक से अधिक तथ्य और साक्ष्य जुटाने के लिए सार्वजनिक आदेश आम्र लोगों के लिए जारी किए है। जिसमें कुक्षी में अवैध शराब परिवहन के दौरान हुए घटनाक्रम से संबंधित जानकारियां देने के लिए मोबाईल-वॉटसअप नंबर जारी किए है। इसमें बताया गया है कि घटना की पुनर्रावृत्ति ना हो इसके लिए अवैध शराब भंडारण, परिवहन, स्टॉक सहित परिवहन में जुड़े वाहन एवं घटना से संबंधित जानकारी देने वाले का नाम गोपनीय रखा जाएगा। कथन दर्ज कराने वाले लोग 15 से 30 सितंबर तक  कलेक्ट्रेट परिसर स्थित एडीएम न्यायालय में उपस्थित हो सकते है। इसके अलावा गोपनीय सूचना के लिए 94259-20720, 73897-35566, 99772-20506 नंबर जारी किए है। 

Share To:

Post A Comment: