धार~जिले के कुक्षी क्षेञ में पदस्थ एसडीएम व आईएएस नवजीव सिंह पंवार की टीम पर हमला~~

( धार से डाॅ. अशोक शास्त्री )

जिले के कुक्षी क्षेञ में पदस्थ एसडीएम व आईएएस नवजीव सिंह पंवार की टीम पर हमला हो गया हैं, एसडीएम अपनी प्रशासनिक टीम को लेकर शराब से भरी हुए वाहन का पीछा कर रहे थे। इसी दौरान ट्रक के साथ चल रही गाडी में बैठे कुछ लोगों ने एसडीएम की टीम को रोका व मारपीट शुरु कर दी, इस दौरान दो हवाई फायर भी हुए है। मामले की सूचना मिलते ही सबसे पहले एसडीओपी कुक्षी व टीआई मौके पर पहुंचे व प्रशासनिक अधिकारियों से पूरा घटनाक्रम को समझा व मामले की जांच में जुट गए है। एसडीएम पर हुए हमले के बाद आबकारी विभाग के सहायक आयुक्त यशवंत धनोरे व एसपी आदित्य प्रतापसिंह भी घटना स्थल का निरीक्षण करने पहुंचे है। मारपीट के दौरान दोनों अधिकारियों को हल्की चोट आई है।

जानकारी के अनुसार ट्रक क्रमांक एमपी-69 एच-0112 में शराब भरकर कुक्षी क्षेञ से जा रहा था, इस बात की सूचना एसडीएम को मिली। जिसके बाद एसडीएम व नायब तहसीलदार ने उक्त वाहन का पीछा किया। ट्रक अलीराजपुर की ओर जा रहा था, तभी रास्ते में ढोल्या व आली के बीच में शराब की गाडी व उसके साथ चल रही एक स्क्रापिर्यों में बैठे लोग अचानक उतरे व एसडीएम से विवाद करने लगे। अचानक शराब माफिया से जुडे लोगों ने नायब तहसीलदार की गाडी पर हमला करते हुए हवाई फायर किया व मारपीट शुरु कर दी। नायब तहसीलदार राजेश भिडे के शासकीय वाहन का अगले हिस्से का कांच फोड दिया व़ नायब तहसीलदार को अपनी गाडी में बैठा लिया। हालांकि घटना की सूचना जैसे ही पुलिस टीम को मिली पुलिस मौके पर पहुंची व वाहन का पीछा किया। कुछ देर बाद माफिया से जुडे लोगों ने नायब तहसीलदार को छोड दिया व अल सुबह का समय होने के कारण अंधेरे का फायदा उठाकर बदमाश फरार हो गए।

वाहन में शराब की पेटियां

सूचना पर पहुंचे आबकारी अमले ने उक्त ट्रक को जप्त कर लिया हैं तथा वाहन की तलाश ली गई, जिसमें शराब की पेटियां रखी हुई है। ऐसे में आगे की विधिवत्त कार्रवाई विभागीय टीम द्वारा शुरु कर दी गई है। एसपी आदित्य प्रतापसिंह के अनुसार कोई अवैध शराब वाहन का पीछा एसडीएम के द्वारा किया जा रहा था, जिसे एक ढाबे के समीप रोका तभी स्कॉर्पियों वाहन आया। जिसमें मुख्य आरोपी सुखराम डाबर व उसके लोग मौजूद थे। इन्होंने अचानक मारपीट की व ट्रक को छुडाने का प्रयास किया व नायब तहसीलदार को अपनी गाडी में बैठा लिया था, जिन्हें बाद में दस्तेयाब कर लिया गया है।
Share To:

Post A Comment: