भोपाल~राजस्थान सरकार से सबक ले शिवराज सरकार, पत्रकार हित में उठाए कदम : सैयद खालिद कैस ~~

भोपाल सैयद रिजवान अली~~

राजस्थान सरकार मुख्यमंत्री जनसम्पर्क प्रकोष्ठ द्वारा प्रसारित जानकारी अनुसार मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने  योजना को मंजूरी देते हुए कहा कि राजस्थान के अधिस्वीकृत पत्रकारों के बच्चों को पोस्ट मैट्रिक के लिए 13,500 रूपए तक स्कॉलरशिप दी जाएगी जो राजस्थान पत्रकार एवं साहित्यकार कल्याण कोष से मिलेगी।

प्राप्त जानकारी अनुसार राजस्थान के अधिस्वीकृत पत्रकारों के बच्चों को प्री-मैट्रिक एवं पोस्ट-मैट्रिक स्कॉलरशिप मिलेगी। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने इस संबंध में सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा तैयार अधिसूचना को मंजूरी प्रदान की है। जिसके अनुसार पोस्ट मैट्रिक में 13,500 रूपए तक की छात्रवृत्ति मिलेगी वहीं पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप योजना के तहत उच्च शिक्षा संस्थानों में अध्ययनरत अधिस्वीकृत पत्रकारों के बच्चों को स्कॉलरशिप दी जाएगी। इसमें हॉस्टलर्स को 4,000 से 13,500 रूपए तक तथा डे स्कॉलर्स को 2,500 से 7,000 रूपए तक का प्रावधान है।

पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप योजना को चार वर्गों में बांटा गया है। स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर के प्रोफेशनल डिग्री कोर्सेज के लिए हॉस्टलर्स को 13,500 रूपए व डे स्कॉलर्स को 7,000 रूपए की स्कॉलरशिप दी जाएगी। विभिन्न प्रोफेशनल कोर्सेज जिनमें डिग्री व डिप्लोमा सर्टिफिकेट मिलता हो, में अध्ययनरत हॉस्टलर्स को 9,500 रूपए व डे स्कॉलर्स को 6,500 रूपए की स्कॉलरशिप मिलेगी।

वहीं, 10वीं कक्षा के बाद किए जाने वाले विभिन्न नॉन डिग्री कोर्सेज के लिए हॉस्टलर्स को 4,000 रूपए व डे स्कॉलर्स को 2,500 रूपए की वार्षिक छात्रवृत्ति तथा अन्य स्नातक व स्नातकोत्तर कोर्सेज कर रहे हॉस्टलर्स के लिए 6,000 रूपए व डे स्कॉलर्स के लिए 3,000 रूपए की स्कॉलरशिप का प्रावधान किया गया है।

6 से 10वीं तक के विद्यार्थियों को प्री-मैट्रिक स्कॉलरशिप

प्री मैट्रिक स्कॉलरशिप के अंर्तगत अधिस्वीकृत पत्रकारों के कक्षा 6 से 10वीं में अध्ययनरत बच्चों को स्कॉलरशिप मिलेगी। इसमें एक वर्ष में अधिकतम 10 माह लगभग 1000 रूपए ( 100 रूपए प्रतिमाह ) की प्री-मैट्रिक स्कॉलरशिप दी जाएगी।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ने बजट 2022-23 में समाज को जागरूक करने में पत्रकारों की महत्ती भूमिका को ध्यान में रखते हुए उन्हें सामाजिक सुरक्षा उपलब्ध कराने की दिशा में पत्रकारों के बच्चों हेतु स्कॉलरशिप देने की घोषणा की थी। इसकी क्रियान्विति में राजस्थान पत्रकार एवं साहित्यकार कल्याण कोष से पत्रकारों के बच्चों को स्कॉलरशिप देने के लिए स्वीकृति प्रदान की है।

प्रेस क्लब ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट्स के संस्थापक अध्यक्ष सैयद खालिद कैस ने राजस्थान की पत्रकार हितेषी इस योजना का स्वागत करते हुए उनका आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश के घोषणावीर यशस्वी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को राजस्थान सरकार से सबक लेना चाहिए। प्रदेश में 20साल से काबिज भाजपा सरकार पत्रकारों के लिए केवल छलावा करती आई है जमीनी तौर पर पत्रकार हितेषी कोई योजना न होना इसका प्रमाण है कि सरकार केवल कागजी घोषणा कर पत्रकार समाज को ठगती आई है।प्रदेश में पत्रकार उत्पीड़न की बढ़ती घटनाओं के कारण भय वा आतंक का माहौल है। 
श्री कैस ने कहा प्रदेश सरकार कमसे कम अनुसार राजस्थान सरकार की भांति अधिस्वीकृत पत्रकारों के बच्चों को प्री-मैट्रिक एवं पोस्ट-मैट्रिक स्कॉलरशिप ही प्रदान कर दे ताकि उनके बच्चो का भविष्य संवर जाए। उन्होंने कहा शिवराज सरकार गैर अधिमान्य पत्रकारों के लिए भी नीति बनाकर उनका भी उत्थान करे उनके साथ बरता जा रहा सौतेला व्यवहार समाप्त हो और वह भी सम्मानजनक जीवन जी सकें उनके साथ पुलिस प्रशासन की दोगली नीति पर अंकुश लगे अत्याचारों की रोकथाम हो।
Share To:

Post A Comment: